अभी अभी ......


Monday, June 7, 2010

बचपन की वो बातें......

1)मछली जल की रानी है,


जीवन उसका पानी है।

हाथ लगाओ डर जायेगी

बाहर निकालो मर जायेगी।



2.) पोशम्पा भाई पोशम्पा,

सौ रुपये की घडी चुराई।

अब तो जेल मे जाना पडेगा,

जेल की रोटी खानी पडेगी,

जेल का पानी पीना पडेगा।

थै थैयाप्पा थुश

मदारी बाबा खुश।



3.) झूठ बोलना पाप है,

नदी किनारे सांप है।

काली माई आयेगी,

तुमको उठा ले जायेगी।



4.) आज सोमवार है,

चूहे को बुखार है।

चूहा गया डाक्टर के पास,

डाक्टर ने लगायी सुई,

चूहा बोला उईईईईई।



5.) आलू-कचालू बेटा कहा गये थे,

बन्दर की झोपडी मे सो रहे थे।

बन्दर ने लात मारी रो रहे थे,

मम्मी ने पैसे दिये हंस रहे थे।



6.) तितली उडी, बस मे चढी।

सीट ना मिली,तो रोने लगी।।

driver बोला आजा मेरे पास,

तितली बोली " हट बदमाश

6 comments:

संजय कुमार चौरसिया said...

bachpan nikal gaya ho to
ab bade bhi ban jaaiye, janab

lekin ek baar fir se bachpan ki baaten yaad aa gayi

http://sanjaykuamr.blogspot.com/

Suman said...

nice

shikha varshney said...

cute...

शिवम् मिश्रा said...

बहुत खूब !

संगीता पुरी said...

बहुत बढिया .. और बहुत सारे होते थे .. याद नहीं आ रहे !!

jay said...

अब तो बड़े बन् जाओ केशव....! वैसे अच्छा लगा आपका बचकाना......!
पंकज झा.